सुकन्या समृद्धि योजना

बेटियों के भविष्य को उज्जवल एवं सुरक्षित बनाने के लिए सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की बचत योजनाओं का संचालन किया जाता है। इन बचत योजनाओं पर इनकम टैक्स छूट एवं उच्चतर ब्याज दर प्रदान किया जाता है। जिससे कि लोग इन योजनाओं में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित हो सके और बेटियों का भविष्य सुरक्षित हो सके। आज हम आपको केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई ऐसी ही एक योजना से संबंधित जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जिसका नाम सुकन्या समृद्धि योजना है। इस योजना के माध्यम से लाभार्थी द्वारा निवेश करके एकमुश्त राशि बेटी की शिक्षा या फिर शादी के लिए प्राप्त की जा सकती है। इस लेख के माध्यम से आपको Sukanya samriddhi Yojana से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी। इसके अलावा आप पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज एवं आवेदन से संबंधित जानकारी भी इस लेख को पढ़कर प्राप्त कर सकेंगे।

Sukanya Samriddhi Yojana

भारत सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना का शुभारंभ किया गया है। यह एक बचत योजना है। इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए बेटी की 10 वर्ष की आयु होने से पहले अकाउंट खुलवाना होगा। इस अकाउंट में निवेश की न्यूनतम सीमा ₹250 रुपए है तथा अधिकतम सीमा 1.5 लाख रुपए हैं। यह निवेश बेटी की उच्च शिक्षा या फिर शादी के लिए किया जा सकता है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा निवेश पर 7.6% की दर से ब्याज प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत निवेश करने पर टैक्स में छूट भी प्रदान की जाएगी। यह योजना केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई एक छोटी बचत योजना है। इस योजना को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम के अंतर्गत लांच किया गया है।

  • इस योजना के अंतर्गत अकाउंट किसी भी पोस्ट ऑफिस या कमर्शियल ब्रांच की अधिकृत शाखा में खुलवाया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि खाते का संचालन बेटी की आयु 21 वर्ष की होने या फिर 18 वर्ष की आयु के बाद शादी होने तक किया जा सकता है। बेटी की उच्च शिक्षा के लिए 18 वर्ष की आयु के बाद 50% की रकम की निकासी की जा सकती है।

सुकन्या समृद्धि योजना डिजिटल अकाउंट के माध्यम से किया जा सकेगा पैसा जमा

भारतीय डाकघर द्वारा संचालित सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार ने बेटियों की शिक्षा तथा उनके विवाह के लिए आरंभ की थी। इस योजना के अंतर्गत पैसों का भुगतान करने के लिए पोस्ट ऑफिस जाना पड़ता है। पर अब भारतीय डाक घर द्वारा डिजिटल अकाउंट लांच किया गया है। इस डिजिटल अकाउंट के माध्यम से सुकन्या समृद्धि योजना के खाते में पैसे जमा किए जाएंगे। अब पोस्ट ऑफिस में भी अन्य बैंकों की तरह डिजिटल सेविंग अकाउंट सेवा शुरू की गई है। इस डिजिटल अकाउंट की वजह से अब खाताधारकों को खाते में पैसे जमा करने के लिए पोस्ट ऑफिस जाने की आवश्यकता नहीं है। वह अपने मोबाइल के माध्यम से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं।

यह डिजिटल अकाउंट खोलने के लिए भी आपको पोस्ट ऑफिस जाने की आवश्यकता नहीं है। इस अकाउंट को आधार कार्ड तथा पैन कार्ड के माध्यम से घर बैठे खोला जा सकता है और पोस्ट ऑफिस की किसी भी स्कीम में पैसे ट्रांसफर किए जा सकते हैं। यह डिजिटल अकाउंट 1 साल के लिए वैध है।

आयुष्मान भारत योजना

http://bharat123.com

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत देश के गरीब तथा पिछड़े परिवारों को स्वास्थ्य…..

80 Foot Budha

http://bharat123.com

The unveiling and consecration of the Great Buddha Statue took place on November

Bihar Ration Card

http://bharat123.com

राज्य के सभी गरीब लोग अपना राशन कार्ड बनवा सकते है राज्य के सभी परिवारों को....

सुकन्या समृद्धि योजना

http://bharat123.com

इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए बेटी की 10 वर्ष की आयु होने से पहले

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत कितनी बेटियों को लाभ मिल सकता है?

Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत केवल एक परिवार की दो बेटियों को ही लाभ मिल सकता है। यदि एक परिवार में 2 से अधिक बेटियां हैं तो इस योजना का लाभ केवल उस परिवार की दो बेटियां ही उठा सकते हैं। लेकिन यदि किसी परिवार में जुड़वा बेटियां हैं तो उन्हें इस योजना का लाभ अलग-अलग मिलेगा यानी कि फिर उस परिवार की तीन बेटियां लाभ उठा पाएंगी। जुड़वा बेटियों की गिनती एक ही होगी लेकिन उनको लाभ अलग-अलग दिया जाएगा।इस योजना के अंतर्गत वह सभी लोग अपनी बेटी का खाता खोल सकते हैं जो अपनी बेटी की शादी तथा पढ़ाई के लिए पैसा जमा करना चाहते हैं। आपको बता दें इस योजना के अंतर्गत 10 साल से कम की आयु की कन्याओं का खाता खोला जा सकता है। Sukanya Samriddhi Yojana को सरकार द्वारा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत आरंभ किया गया है।

सुकन्या समृद्धि योजना इंटरेस्ट रेट

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सुकन्या समृद्धि योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कैंपेन के अंतर्गत लांच किया गया था जिससे कि बेटियों के भविष्य को सुरक्षित किया जा सके। इस योजना के अंतर्गत किए गए निवेश को कन्या के विवाह एवं शिक्षा के लिए उपयोग किया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि अकाउंट को पोस्ट ऑफिस एवं बैंक में खोला जा सकता है। इनकम टैक्स एक्ट 1961 के सेक्शन 80c के अंतर्गत इस योजना के अंतर्गत डेढ़ लाख तक का कर लाभ प्रदान किया जाता है।

इस योजना के अंतर्गत इंटरेस्ट रेट पहले 8.4% निर्धारित किया गया था जिसे अब 7.6% कर दिया गया है। इस योजना की अवधि पूरी होने के पश्चात या फिर कन्या यदि एन आर आई या नोन सिटिजन बन जाती है तो इस स्थिति में ब्याज नहीं प्रदान किया जाता। तिमाही आधार पर सरकार द्वारा ब्याज दर निर्धारित की जाती है।

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ट्रांसफर

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में या फिर एक बैंक से दूसरे बैंक में अकाउंट को ट्रांसफर किया जा सकता है। इस अकाउंट को ट्रांसफर करने के लिए आपको निम्नलिखित प्रक्रिया को फॉलो करना होगा।

  • सर्वप्रथम आपको अपनी अपडेटेड पासबुक और केवाईसी दस्तावेजों को लेकर डाकघर में या फिर बैंक में जाना होगा। ट्रांसफर के दौरान बालिकाओं को उपस्थित होने की आवश्यकता नहीं है।
  • इसके पश्चात आपको अपने सुकन्या समृद्धि अकाउंट की पासबुक एवं केवाईसी डॉक्यूमेंट को अपने बैंक या पर पोस्ट ऑफिस में जमा करना होगा और अपने बैंक एवं पोस्ट ऑफिस को इस बात की सूचना देनी होगी कि आपको अपना खाता ट्रांसफर करना है।
  • इसके बाद मैनेजर आपका खाता पुरानी पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में बंद कर देगा और ट्रांसफर रिक्वेस्ट आपको देगा। इसके अलावा आपसे सभी जरूरी दस्तावेजों की मांग की जाएगी।
  • अब आपको यह ट्रांसफर रिक्वेस्ट लेकर नए पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक अकाउंट में जाना होगा और वहां पर यह सभी दस्तावेज सबमिट करने होंगे।
  • पहचान एवं पते के प्रमाण के लिए आपको केवाईसी दस्तावेजों को भी जमा करना होगा।
  • अब आपको एक नई पासबुक दी जाएगी जिसमें आपकी शेष राशि प्रदर्शित होगी।
  • इसके पश्चात आप अपने इस नया अकाउंट से सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट का संचालन कर सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना खाता रिओपन करने की प्रक्रिया

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सुकन्या समृद्धि योजना को भारत सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत आरंभ किया था। इस योजना के अंतर्गत बेटी की 10 वर्ष की आयु से पहले उसकी पढ़ाई तथा शादी के लिए खाता खुलवाया जा सकता है। यह एक बहुत ही लोकप्रिय योजना है। Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत खाते में प्रतिवर्ष न्यूनतम ₹250 रुपए की राशि तथा अधिकतम 1.5 लाख रुपए की राशि जमा की जा सकती है। इस खाते को जारी रखने के लिए लाभार्थी को प्रति वर्ष ₹250 जमा करने अनिवार्य हैं। यदि लाभार्थी ने किसी वर्ष ₹250 की राशि जमा नहीं की है तो फिर उसका अकाउंट बंद हो जाएगा।

  • अकाउंट बंद होने के बाद अकाउंट को एक्टिवेट करवाया जा सकता है। इसके लिए लाभार्थी को बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस जहां भी उसका अकाउंट खुला हुआ है वहां जाना होगा। इसके पश्चात लाभार्थी को खाता दोबारा चालू करवाने का फॉर्म भरकर जमा करना होगा और बकाया राशि का भुगतान करना होगा।
  • मान लीजिए आपने 2 वर्ष से ₹250 की पेमेंट नहीं की है तो आपको ₹500 की पेमेंट करनी होगी तथा प्रति वर्ष ₹50 की पेनल्टी का भुगतान करना होगा। 2 वर्ष की पेनल्टी ₹100 हो जाएगी। तो यदि आप ने 2 वर्ष से सुकन्या समृद्धि योजना खाते में न्यूनतम राशि का भुगतान नहीं किया है तो आप को कम से कम ₹600 का भुगतान करना होगा। इसमें ₹500 दो वर्ष की न्यूनतम राशि तथा ₹100 दो वर्ष की पेनल्टी के होंगे।

किन स्थितियों में सुकन्या समृद्धि खाता मैच्योरिटी से पहले बंद हो सकता है?

यदि खाता धारक की मृत्यु हो जाती है तो सुकन्या समृद्धि योजना खाता बंद करवाया जा सकता है। इस स्थिति में खाताधारक का मृत्यु प्रमाण पत्र दिखाना अनिवार्य होगा। जिसके पश्चात इस खाते में जमा धनराशि बेटी के अभिभावक को ब्याज सहित लौटा दी जाएगी। इसके अलावा सुकन्या समृद्धि योजना खाता खुलवाने के 5 साल बाद भी किसी कारणवश बंद कराया जा सकता है। इस स्थिति में सेविंग बैंक अकाउंट के हिसाब से ब्याज दर मिलेगी। खाते में से 50% धनराशि बेटी की पढ़ाई के लिए भी निकाली जा सकती है। यह निकासी बेटी के 18 वर्ष के होने के बाद ही की जा सकती है।

सुकन्या समृद्धि योजना कर लाभ

  • आयकर अधिनियम के अनुसार, इस योजना के तहत किए गए सभी निवेश कर कटौती के लाभ के लिए पात्र हैं। SSY की ओर अधिकतम 1.5 लाख की कर कटौती स्वीकार्य है।
  • इसके तहत ब्याज जमा होता है, जिसे वार्षिक आधार पर खाते में जमा किया जाता है। इस अर्जित / संचित ब्याज पर कोई कर नहीं लगाया जाता है। यह योजना के तहत धन को अधिकतम करने की अनुमति देता है।
  • टैक्स छूट का दावा या तो लड़की के माता-पिता या कानूनी अभिभावक द्वारा किया जा सकता है। केवल एक जमाकर्ता आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत कर छूट के लिए पात्र है।

सुकन्या समृद्धि योजना कैलकुलेटर एवं कम या अधिक राशि का भुगतान

  • आपके द्वारा परिपक्वता राशि सुकन्या समृद्धि कैलकुलेटर के माध्यम से कैलकुलेट की जा सकती है।
  • केलकुलेटर प्रतिवर्ष किए गए निवेश और आपके द्वारा उल्लेखित ब्याज दर जैसे विवरणों का उपयोग करके परिपक्वता राशि की जानकारी प्रदान करेगा।
  • यदि जमाकर्ता द्वारा किसी वर्ष न्यूनतम राशि जमा नहीं की गई तो इस स्थिति में अकाउंट डिफॉल्ट हो जाएगा। अकाउंट को ₹50 के फाइन का भुगतान करके दोबारा से एक्टिव किया जा सकता है।
  • यदि जमा करता द्वारा अधिकतम राशि से ज्यादा राशि जमा की गई है तो इस स्थिति में अतिरिक्त राशि पर कोई ब्याज नहीं प्रदान किया जाएगा।

Sukanya Samriddhi Yojana के मुख्य तथ्य

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सुकन्या समृद्धि योजना को सरकार द्वारा बेटियों के भविष्य को सुरक्षित रखने और उनकी पढ़ाई तथा शादी के लिए आरंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत निवेश करके बेटी के भविष्य को सुरक्षित किया जा सकता है। इस योजना की कुछ विशेषताएं है जो की कुछ इस प्रकार है।

  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 10 साल से कम उम्र की बेटी का अकाउंट खुलवाया जा सकता है।
  • अकाउंट किसी भी पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में खुलवाया जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत एक परिवार की अधिकतम दो बच्चों का अकाउंट खुलवाया जा सकता है।
  • कुछ विशेष परिस्थितियों में एक परिवार की तीन बच्चों का अकाउंट भी खुलवाया जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत नियुन्तम ₹250 में अकाउंट खुलवाया जा सकता है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 1 वित्त वर्ष में नियुन्यम ₹250 का निवेश तथा अधिकतम ₹1.5 लाख रुपए का निवेश किया जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत 7.6% ब्याज दर निर्धारित की गई है।
  • सेक्शन 80C इनकम टैक्स अधिनियम के अंतर्गत इस योजना के अंतर्गत टैक्स छूट भी मिलती है।
  • इस योजना के माध्यम से मिलने वाला रिटर्न भी टैक्स फ्री है।
  • बेटी की उच्च शिक्षा के लिए भी सुकन्या समृद्धि योजना से 50% की रकम निकाली जा सकती है।
  • Sukanya Samriddhi Yojana बेटियों के लिए केंद्र सरकार की एक छोटी बचत योजना है |
  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी राष्ट्रीयकृत बैंक ,पोस्ट ऑफिस ,एसबीआई ,आईसीआईसीआई ,पीएनबी ,एक्सिस बैंक ,एचडीएफसी , आदि इन सभी बैंको में अपनी बेटी के लिए खाता खुलवा सकते है

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए अधिकृत बैंक

सुकन्या समृद्धि योजना खाते खोलने के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा अधिकृत कुल 28 बैंक हैं। उपयोगकर्ता निम्नलिखित में से किसी भी बैंक में SSY खाता खोल सकते हैं और इस योजना का लाभ उठा सकते है ।

  • इलाहाबाद बैंक
  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  • ऐक्सिस बैंक
  • आंध्रा बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BOM)
  • बैंक ऑफ इंडिया (BOI)
  • कॉर्पोरेशन बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (CBI)
  • केनरा बैंक
  • देना बैंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB)
  • स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (SBP)
  • स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (SBM)
  • इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB)
  • भारतीय बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB)
  • आईडीबीआई बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • सिंडीकेट बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर (SBBJ)
  • स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर (SBT)
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC)
  • स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (SBH)
  • पंजाब एंड सिंध बैंक (PSB)
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • यूको बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • विजय बैंक

सुकन्या समृद्धि योजना पासबुक

  • सुकन्या समृद्धि खाता खुलने के बाद आवेदक को एक पास बुक भी प्रदान की जाती है।
  • इस पासबुक पर खाता खुलने की तारीख, बच्ची की जन्म की तारीख, खाता संख्या, खाता धारक का नाम, पता और जमा की गई रकम दर्ज होती है।
  • इस पासबुक को खाते में पैसा जमा करने, ब्याज भुगतान प्राप्त करने के समय बैंक या डाकघर में जमा करना होता है।
  • खाता बंद कराने के समय भी इस पासबुक का उपयोग किया जाता है।

PM Kanya Yojana के लाभ

  • इस योजना का लाभ देश की 10 से कम आयु की लड़कियों को प्रदान किया जायेगा ।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत, बालिकाओं के अभिभावक उनके लिए बचत खाता खोल सकते हैं। जब तक वह बालिका 10 वर्ष की नहीं हो जाती है ।
  • इस योजना के तहत चालू वित्त वर्ष के दौरान अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं।
  • PM Kanya Yojana 2021 के तहत आप अपनी बच्चियों के भविष्य को आसानी से सुरक्षित कर सकते है।
  • यह आपकी लड़की की शिक्षा या शादी में मदद करेगा।
  • इस योजना को आप किसी भी बैंक या डाकघर में आसानी से शुरू कर सकते हैं।
  • यह योजना लड़की और उनके माता-पिता / अभिभावक दोनों के लिए फायदेमंद है क्योंकि यह दोनों की मदद करता है।
  • अभिभावक या प्राकृतिक माता-पिता को केवल दो लड़कियों के लिए इस योजना के तहत खाता खोलने की अनुमति है ।
  • जमाकर्ता लड़की की ओर से खाता खोलने की तारीख से चौदह साल पूरा होने तक खाते में पैसा जमा कर सकता है।

SSY के दस्तावेज़ (पात्रता)

  • इस योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए कन्या की आयु 10 वर्ष से कम होनी चाहिए |
  • आधार कार्ड
  • बच्चे और माता पिता की तस्वीर
  • बालिका जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण
  • जमा कर्ता(माता -पिता या क़ानूनी अभिभावक ) यानि पैन कार्ड ,राशन कार्ड ,ड्राइविंग लाइसेंस

सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदन पत्र
  • कन्या का जन्म प्रमाण पत्र
  • जमाकर्ता का आईडी प्रूफ
  • जमाकर्ता का निवास प्रमाण पत्र
  • चिकित्सा प्रमाण पत्र
  • अन्य दस्तावेज जो बैंक या डाकघर द्वारा मांगे गए हो।

सुकन्या समृद्धि योजना की कुछ नियम व शर्तें

निवेश की शर्तें एवं नियम

  • खाता खुलवाने की आयु: सुकन्या समृद्धि खाता बालिका की 10 वर्ष की आयु होने से पहले अभिभावक द्वारा खोला जा सकता है।
  • खाते की संख्या: एक लड़की के लिए केवल एक ही खाता इस योजना के अंतर्गत खोला जा सकता है। इस योजना के अंतर्गत एक बेटी के लिए माता द्वारा अलग तथा पिता द्वारा अलग खाता ही नहीं संचालित किया जा सकता।
  • परिवार के खाताधारकों की संख्या: एक परिवार की केवल दो बेटियां ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं।
  • जुड़वा बेटियों की स्थिति में एक परिवार की खाताधारक की संख्या: यदि जुड़वा या ट्रिपलेट बेटियों का जन्म होता है तो उस स्थिति में 2 से अधिक खाते भी खोले जा सकते हैं।
  • खाते का संचालन: सुकन्या समृद्धि खाते को खाताधारक की 18 वर्ष की आयु होने तक खाता धारक के अभिभावक द्वारा संचालित किया जाता है।

अधिकतम एवं न्यूनतम राशि जमा करने के नियम व शर्तें

  • न्यूनतम खाता खोलने के लिए राशि: इस योजना के अंतर्गत न्यूनतम 250 रुपए में खाता खोला जा सकता है।
  • न्यूनतम प्रतिवर्ष निवेश: प्रत्येक वर्ष इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को 250 रुपए का निवेश करना होगा।
  • डिफॉल्ट की स्थिति: यदि खाताधारक द्वारा प्रतिवर्ष न्यूनतम 250 रुपए का निवेश नहीं किया गया तो इस स्थिति में खाते को डिफॉल्ट कर दिया जाएगा। यदि खाता डिफॉल्ट हो गया है तो इस स्थिति में खाते में 250 रुपए की न्यूनतम राशि का भुगतान एवं ₹50 की पेनल्टी का भुगतान करके खाते को पुनर्जीवित किया जा सकता है।
  • अधिकतम निवेश राशि: सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अधिकतम ₹150000 तक की राशि का निवेश किया जा सकता है।
  • खाता खोलने के महत्वपूर्ण दस्तावेज: इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने के लिए अभिभावक को form-1, बेटी का जन्म प्रमाण पत्र तथा अभिभावक का पैन कार्ड और आधार नंबर जमा करना होगा।
  • निवेश करने की अवधि: इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने की तिथि से 15 साल तक निवेश किया जा सकता है।

परिपक्वता, कर लाभ एव ब्याज दरें से संबंधित नियम व शर्तें

  • परिपावकता आयु: सुकन्या समृद्धि खाता खुलने से 21 साल बाद या फिर बालिका के विवाह के समय 18 वर्ष की आयु होने के बाद परिपक्व हो जाएगा।
  • इंटरेस्ट रेट: सरकार द्वारा हर तिमाही आधार पर इंटरेस्ट रेट की अधिसूचना दी जाएगी। जनवरी 2021 से मार्च 2021 के लिए इस योजना के अंतर्गत इंटरेस्ट रेट 7.6% है।
  • ब्याज राशि: इस योजना के अंतर्गत ब्याज राशि वित्तीय वर्ष के अंत में खाते में जमा किया जाएगा। सुकन्या समृद्धि खाते को पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में खुलवाया जा सकता है।
  • कर लाभ: सेक्शन 80C के अंतर्गत इस योजना के अंतर्गत किया गया निवेश कर मुक्त है। इस योजना के अंतर्गत प्राप्त हुआ ब्याज तथा परिपक्वता राशि भी कर मुक्त है।

खाते की प्रीमेच्योर क्लोजर से संबंधित नियम व शर्ते

  • प्रीमेच्योर क्लोजर: सुकन्या समृद्धि खाते को समय से पहले (खाता खोलने के 5 साल बाद) बंद कराया जा सकता है।
  • खाता धारक की मृत्यु: यदि खाता धारक की मृत्यु हो जाती है तो इस स्थिति में यह खाता बंद करवाया जा सकता है।
  • जानलेवा रोग की स्थिति: यदि खाताधारक को किसी प्रकार का जानलेवा रोग हो जाता है तो इस स्थिति में भी यह खाता बंद करवाया जा सकता है।
  • अभिभावक की मृत्यु: खाताधारक के अभिभावक (जो खाते का संचालन करता है) की मृत्यु की स्थिति में भी यह खाता बंद करवाया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि खाते से पैसे निकालने के नियम व शर्तें

  • निकासी करने की स्थिति: सुकन्या समृद्धि योजना खाते से पिछले वित्तीय वर्ष के अंत में उपलब्ध शेष राशि का अधिकतम 50% तक की निकासी की जा सकती है। यह निकासी बालिका की शिक्षा के लिए की जा सकती है।
  • सुकन्या समृद्धि खाते निकासी करने के लिए आयु: यह निकासी बालिका की 18 वर्ष की आयु पूरी होने पर या फिर दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद (दोनों में से जो भी पहले हो) की जा सकती है।
  • निकासी का प्रकार: खाते से निकासी एक साथ की जा सकती है या फिर किस्तों में भी की जा सकती है।

Sukanya Samriddhi Yojana खाता खोलने का आवेदन फॉर्म

  • जो इच्छुक लाभार्थी इस योजन के अंतर्गत बचत खाता खोलने के लिए  आवेदन करना चाहते है तो उन्हें सबसे पहले सुकन्या समृद्धि योजना अकॉउंट ओपनिंग फॉर्म को डाउनलोड करना होगा |
  • इसके बाद सभी आवश्यक जानकारी के साथ आवेदन फॉर्म भरना होगा |सभी जानकारी भरने के बाद फ्रॉम के साथ अपने सभ ज़रूरी दस्तावेज़ों को अटैच करना होगा |
  • फिर वांछित बैंक और पोस्ट ऑफिस में आवेदन फॉर्म और दस्तावेज़ों को राशि के साथ जमा करना होगा

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अकाउंट बैलेंस चेक करने की प्रक्रिया

सुकन्या समृद्धि योजना को भारत सरकार द्वारा आरंभ किया गया था। जिसके अंतर्गत निवेश पर 7.6 प्रतिशत ब्याज प्रदान किया जाता है। सुकन्या समृद्धि योजना की पासबुक ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों माध्यमों से एक्सेस की जा सकती है। आप सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अपना अकाउंट बैलेंस बहुत आसानी से चेक कर सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट इस समय लगभग 25 से भी अधिक बैंक प्रदान कर रहे हैं। आपको इन बैंक में जाकर अपना खाता खुलवाना होगा। इसके पश्चात आपको बैंक द्वारा पासबुक प्रदान की जाएगी। आप पासबुक के माध्यम से सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अपना अकाउंट बैलेंस चेक कर सकते हैं ।यह अकाउंट बैलेंस डिजिटल या फिर अकाउंट स्टेटमेंट के माध्यम से चेक किया जा सकता है। कीअकाउंट बैलेंस चेक करने के लिए आपको निम्नलिखित प्रक्रिया को फॉलो करना होगा।

  • सर्वप्रथम आपको अपने बैंक में आपको लॉगइन क्रैडेंशियल्स प्रदान करने का अनुरोध करना होगा।
  • यह लॉगइन क्रैडेंशियल्स सभी बैंकों द्वारा प्रदान नहीं किए जाते हैं। केवल कुछ बैंक की यह सुविधा प्रदान करते हैं।
  • लॉगइन क्रैडेंशियल्स प्राप्त करने के बाद आपको बैंक के इंटरनेट बैंकिंग पोर्टल पर लॉग इन करना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • अब आपको कंफर्म बैलेंस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप कंफर्म बैलेंस के विकल्प पर क्लिक करेंगे आपके सामने सुकन्या समृद्धि अकाउंट की राशि खुलकर आ जाएगी।
  • केवल इसी माध्यम से सुकन्या समृद्धि अकाउंट बैलेंस चेक किया जा सकता है।
Scroll to Top